Search Engine Optimization

Search Engine Optimization क्या है?Easy Detailed Explanation

Contents show

SEO- SEARCH ENGINE OPTIMIZATION  आजके समय में जो इंसान  INTERNET पे काम कर रहा है उसके लिए बहुत ही ज्यादा जरूरी है तो आज हम जानेंगे की SEO क्या होता है क्यू जरूरी है काम कैसे करता है और इसके फायदे क्या क्या है बिलकुल सुरु से और असं भासा में समझना सुरु करते है

SEO एक बहुत बड़ा  तो पिक है और टाइम तो इसमें कुछ UPDATES और चेन्ज  होते रहते है लेकिन इसका बेस हमेशा शेम रहता है इसको एक ब्लॉग में कवर करना न मुमकिन सा है फिर भी कम ज्यादा से ज्यादा  समझाने की कोसिस करेंगे  गे

Search Engine Optimization (Seo) क्या है?

यह  एक process है जिससे क्वालिटी कंटेंट के रैंकिंग को इन्क्रीज़ करता है यूजर के experience  को भी बेहतर बनता है

ब्लॉग के लिए seo क्या जरूरी है (what is seo necessary for blog)

  • जब कोई ब्लिग या आर्टिकल लिखता है तो उसका उदेश्य होता है उसे  ज्यादा से ज्यादा लोग पढ़े और देखे लेकिन
  • आप चाहे कितना मरजी अच्छा कंटेंट लिख दे
  • अगर उसमे सही तरीके से Search Engine Optimization नही किया गया तो उसमे विजिट नही आयगी

Search Engine Optimization के प्रकार

Search Engine Optimization (SEO) के चार प्रकार होते है | बहुत से लोग सिर्फ तीन ही तरह के बारे में बताते है लेकिन एस.ई.ओ के चार प्रकार होते है 

  1. On-Page Seo
  2. Off-Page Seo
  3. Local Seo
  4. Technical Seo

1. ON PAGE SEO

जिन चीजों का ध्यान हमे अपने कंटेंट को लिखते समय रखना पड़ता है उसे  on -page seo कहते है या ये कहे गूगल   के guideline के हिसाब से हमे अपने आर्टिकल में करना पड़ता है उसे on page seo कहते है

Website Speed

गूगल के Algorithem के हिसाब से ज्यादा से ज्यादा 5 सेकंड में आपके साईट खोल जानी चाहिए इससे नही तो आपकी साईट को रैंकिंग नही मिलेगी और 2 सेकंड के लग-भाग एक अच्छी साईट को खोलने  के लिए पर्याप्त समय है

Website Nevigation

किसी भी विजिटर को ब्लॉग में से दुशरे ब्लॉग को यूज़ किसी भी तरह की दिक्कत या परेशानी नही  होनी चाहिए

Tittle Tag

आपके topic या कंटेंट से मिलता जुलता आपका tittle tag होना जरूरी है जिससे गूगल ज्यादा बेहतर रिजल्ट दे सके

URL

आपके URL आपके कंटेंट से रिलेटेड हो और आपका URL बहुत जादा लम्बा न हो

Internal Link

आपके दुशरे ब्लॉग एक दुशरे के साथ कनेक्ट होने चाहिए ताकि एक ब्लॉग से दुशरे ब्लॉग में यूजर आसानी से पहुच सके

Alt Tag

ये tag हमेशा images या फोटो के लिए यूज़ किया जाता है इसमें सिर्फ image किस बारे में है या किस चीज की image है सिर्फ इसी चीज को शोर्ट में लिखना होता है जेशे google को पता चल सके की image किस बारे में है

Content

कंटेंट में हैडिंग होनी चाहिए ,paragraph होने चाहिए और छूटे छूटे points का ध्यान  रखना होता है जैसे की बीच बीच में keyword का यूज़ करे points भी हो और पढने में और समझने में आसान हो

Headline and Heading

ये भी बहुत जरूरी फैक्टर है google की नजर में क्युकी वो आपके कंटेंट के हिसाब से भी आपके tittle को समझता है तो heading और heading tag भी देना जरूरी है मेन heading को  h1 tag और उसके बाद की heading के हिसाब से h2 h 3 tag देना जरूरी है साथ ही points भी देना चाहिए

Keyword

जो चीजी लोग search करते है गूगल में उन्हें ही keyword बोला जाता है और keyword का बहुत बड़ा रोला है ब्लॉग या पोस्ट की रैंकिंग में ये keyword एक पूरा -का -पूरा topic है सही keyword ढूढ़ना और सही तरीके से और सही जगह में keyword लिखना बहुत जरूरी है

Page Rank

गूगल का एक algorithm है जिससे गूगल तय करता है किस पेज को पहले rank में  रखना  है और किसको  सेकंड ये सब हमारे Search Engine Optimization में डिपेंड करता है जितना SEO फ्रेंडली हमारी साईट होगी हमने उसमे काम किया होगा उतना ही अच्छा गूगल हमे रैंकिंग देगा —

Anchor Text

एक तरह का hyperlink है जिसमे हम किसी एक text को किसी दूसरे ब्लॉग से interlink करते है

Tittle Tag

किसी भी web page का tittle ही tittle tag कहलाता है गूगल के search algorithm

Meta Tag

गूगल search के algorithm को समझाने  के लिए ये कंटेंट में क्या लिखा है  meta tag का यूज़ किया जाता है

Search Algorithm

करीब 200 के लहबग गूगल के algorithm है जिनको देख कर गूगल रैंकिंग देता है

SERP

गूगल में कुछ भी search करने के जो पेज खुल कर आता है उसे  ही search engine result पेज कहते है

Keyword Density

कोई keyword article में कितनी बार उसे किया गया है इसी को keyword density कहते है

Keyword Stuffing

जरूरत से ज्यादा बार किसी keyword को एक ही आर्टिकल में यूज़ करना keyword stuffing कहते है

Robots txt

ये एक फाइल होती है जिसे domain के रूट में रख जाता है इसके हिसाब से गूगल console को बताया  जाता है साईट का स्ट्रक्चर कैसा है

2. OFF PAGE SEO

वेबसाइट एक बाहर जो भी कार्य वेबसाइट के हित के लिए किया जाता है उसे Off Page Search Engine Optimization कहते है 

Search Engine Submission

अपनी website को सही तरीके से सबमिट करने ही submission कहलाता है

Book Marking

जो sites बुक मार्किंग वाली होती है उनमे ओनी website या ब्लॉग को सबमिट करना चाहिए

Directory Submission

अपनी साईट को पोपुलर हाई पर वाले directory में ही submit करना चाहिए

Social Media

अपने website का पेज सोशल मीडिया में भी बनाना चाहिए और इसमें ब्लॉग या website के लिंक देने चाहिए सोशल मीडिया जैसे Facebook , WhatsApp ,twitter ,linked in ,Quora ,telegram

Classified Submission

classified में जाकर हम अपने ब्लॉग या website को फ्री में advertise कर सकते है

Q & A Site

कुछ ऐसी साईट भी होती है जीने questions के answer दिए जाते है वह पर जाकर हम अपने साईट का question का answer देकर लिंक दे सकते है

Blog Commenting

अपने ब्लॉग से रिलेटेड आप दुशरे ब्लॉग में जाकर कमेंट कर सकते है और website के option में आप अपनी website का लिंक दे सकते है जिससे आपके website में ट्रैफिक आयेगा

Pin

अपनी website में जो image लगा राखी   है आपने उसी  आप सोशल मीडिया में पोस्ट कर सकते है और वह से भी बहुत अच्छा ट्रैफिक आ सकता है Printest बेस्ट जगह है अपनी image अपलोड करने के लिए

Guest Post

अपनी niche से रिलेटेड दुशरी sites में जाके गेस्ट पोस्ट कर सकते है और उन पोस्ट में अपना फॉलो लिंक दे सकते है और ये एक सही तरीका मन जाता है इसमें कुछ गलत नही है

3. local SEO

  • इसका यूज़ हम लोकल बिज़नेस को बढ़ाने के लिए करते है
  • इसमें गूगल माय बिज़नेस में रजिस्टर करना होता है
  • ये on-page और off-page के जैसा ही है
  • लेकिन सिर्फ छोटे एरिया तक पहुचने के लिए local एस.ई.ओ का प्रयोग करते है
  • मैंने आपके लिए Local Seo में पूरी जानकारी अलग से दी है आप नीचे क्लिक करके पढ़ सकते है
  • Local Seo क्या है कैसे इसकी मदद से हम अपने व्यापर को ग्रो कर सकते है 

4. Technical SEO

  • जो भी तकनिकी सेटिंग या किसी थर्ड पार्टी से मदद Website में लेते है उसे टेक्निकल एस.ई.ओ कहते है 
  • आपके वेबसाइट की स्पीड, साईट थीम डिजाईन भी टेक्निकल एस.ई.ओ में ही आती है 
  • वेबसाइट में plugin से भी टेक्निकल एस.ई.ओ में बहुत इफ़ेक्ट पड़ता है इसीलिए हमेशा अच्छे और काम के ही plugin रखने चाहिए 
  • जो चीजे हम अपनी साईट में करते है जिससे हमारी साईट यूजर फ्रेंडली हो सके वो सब टेक्निकल एस.ई.ओ होता है 

Search Engine Optimization और internet मार्केटिंग में क्या अंतर है

  • बहुत से लोगो को ये भ्रम  रहता है की Search Engine Optimization और Internet Marketing  एक ही है लेकिन हकीकत में दोनों बहुत अलग है
  • दोनों का तरीका भी बिलकुल ही अलग है
  • Search Engine Optimization एक तरह का टूल है जिसका काम है अच्छे कंटेंट को कनक करना
  • sem   internet marketing एक हिस्सा आप  बोल सकते है गूगल का जिसकी मदद से लोग गूगल में ads रन करते है प्रोडक्ट प्रमोट करते है

Search Engine Optimization और SEM में अंतर क्या होता है

Search Engine Optimization (Seo) का यूज़ हम तब करते है जब हमे organically अपनर कंटेंट को गूगल के पहले पेज में रैंक कराना हो और उसके लिए गूगल की गाइड लाइन को फॉलो करना पड़ता है काफी टाइम भी लगता है क्युकी ये धीरे धीरे वर्क करती है और इसके रिजल्ट लम्बे समय में अच्छे देखने को मिलते है

SEM(Search Engine Marketing)

इसमें हम गूगल को पैसे pay करते है और गूगल हमारी साईट को रंका करवाता है इसमें टाइम बहुत कम लगता है लेकिन ये तब तक ही काम करती है जब तक हम गूगल को पैसे दे रहे है

  • मोटा – मोटा seo में हम मेहनत करते है और sem में गूगल हमे सिर्फ पैसे देने है और कंटेंट देना है
  • इसको हम लोग inlink या फिर सिम्पली लिंक के नाम से भी जानते है
  • ये एक hyperlink होता है आपके ब्लॉग का लिंक किसी दूसरे  के ब्लॉग में होता है
  • और वह से आप डायरेक्ट किसी को अपने ब्लॉग में ला सकते है ये भी एक बहुत अच्छा फैक्टर माना जाता है
  • और इससे रैंकिंग में बहुत ज्यादा मदद मिलती है लेकिन कुछ balkinking गूगल के नजर में गलत भी है
  • जिससे आपकी साईट की रैंकिंग घटाई  भी जा सकती है

organic और inorganic results क्या होता है

जिन sites में seo किया जाता है और वे rank करती  है उन्हें organic रिजल्ट कहते है

जिन sites को गूगल की मदद से पैसे खर्च करके rank कराया जाता है उसे inorganic रिजल्ट कहते है

search engine क्या है और कौन कौन से है

  • search engine का मतलब जहा पर  हम अपनी QUERRY internet में search करते है
  • ऐसे तो बहुत से search engine है
  • लेकिन लोग गूगल को ही search engine मानते है क्युकी भारत मे 95 % से ज्यादा लोग गूगल का ही इस्तेमाल करते है
  • और दुनिया में भी 90 % लोग गूगल को ही उपयोग करते है

Some Search Engines

  1. BING
  2. YAHOO!
  3. Google
  4. AOL
  5. ASK etc.

Search Engine Optimization Technics के प्रकार

एस.ई.ओ टेक्निक तीन प्रकार की होती है 

  1. White Hat Technic
  2. Black Hat Technic
  3. Grey Hat Technic

1. White Hat Technic

  • 100 % गूगल की गाइडलाइन फॉलो करके एस.ई.ओ का इस्तेमाल  करके  website को rank करना white hat technic होती है

2. Black Hat Technic

  • google की गुइड लाइन फॉलो न करना रैंकिंग के लिए unethical तरीके से इस्तेमाल करना ही black hat technic कहलाता है domain आगे बन कर देता है

3. Grey Hat Technic

  • 80 % से 90 % white hat का इस्तमाल और 10 % से 20 % technic का इस्तमाल करना website में gray hat technic कहलाता है

Search Engine Optimization के Keyword Player कौन है?

एस.ई.ओ के तीन keyword  Player होते है 

  1. Audience
  2. Website owner
  3. Search Engine

seo के लाभ

  1.  सबसे बेहतरीन तरीका है लीड लाने का
  2.  एस.ई.ओ से लीड मिलती है वो ज्यादा अच्छे results  देती है
  3.  अच्छी लीड्स को बढ़ता है
  4.   local व्यापर के लिए सबसे बेस्ट है
  5.   ब्रांड की जागरूकता बढ़ने में मदद करती है
  6.  समय -समय  में update और यूजर फ्रेंडली रहता है
  7.   सबसे बड़ा जरिया है organic और क्वालिटी ट्रैफिक लाने के लिए

conclusion of Search Engine Optimization

1- Full Form

  •  SEO – Search Engine Optimization
  • SERP- search engine result page
  • SEM-search engine marketing

2 . Search Engine Optimization एक टूल है जो search engine में क्वालिटी  औरे रेलेवेंट  कंटेंट को  increase करता है और यूजर को बेस्ट कंटेंट और फीचर प्रोवाइड करता है

3 . गूगल एक सेर्च engine है और गूगल के algorithm के हिसाब से छोटे बड़े मिला कर 200 factors को देखता है

4 . Search Engine Optimization के प्रकार  

  1. On-page Seo
  2. Off-page Seo
  3. Local Seo
  4. Technical Seo

5 . Search Engine Optimization Technics

  • Whitehat
  • Black hat
  • Gray hat

Also Read:

SEO Full Form

Search Engine Optimization

एस.ई.ओ क्या है?

यह  एक process है जिससे क्वालिटी कंटेंट के रैंकिंग को इन्क्रीज़ करता है यूजर के experience  को भी बेहतर बनता है

8 thoughts on “Search Engine Optimization क्या है?Easy Detailed Explanation”

  1. Pingback: On Page SEO क्या है? कैसे करे | 2021 | In Hindi | hindivindi.com

  2. Pingback: Off Page Seo kya hai कैसे करते है 2021 | In Hindi | hindivindi.com

  3. Pingback: Google Webmaster Tools | Search Console | Best Guide 2021 |

  4. Pingback: Google Search Console Kya Hai? | Step By Step Best Guide 2021

  5. Pingback: Niche Kya Hai? Types Of Niches | Best Niche कैसे चुने 2021

  6. Pingback: Google Ads kya hai- काम कैसे करता है | 2021 Best Guide

  7. Pingback: Local Seo क्या है? | Google My Business | Best Guide 2022

  8. Pingback: Pillar Post Kya Hai | Best Pillar Content कैसे लिखे | 2022 |

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *