Blog Kya Hota Hai

blog kya hota hai in hindi

आजका समय तेजी से आधुनिक युग में परिवर्तित हो रहा है अधिकांश चीजे इन्टरनेट पे निर्भर हो गई है जहा पहले मैन पॉवर(श्रमिक) द्वारा अधिकांश कार्य पूरे किए जाते थे वही आजके समय में उनकी जगह मशीने ले रही है जहा 100-200 श्रमिक मिलकर एक कंपनी के लिए काम करते थे वही अब मशीने आ जाने के कारण 30-40 श्रमिक की जरुरत उस कंपनी में रह गयी है | और इसी सब परिवर्तन और विकास में एक चीज के बारे में आपको जानना बहुत जरुरी हो गया है जिसका नाम है ब्लॉग (Blog Kya Hota Hai) |

Contents show

ये जानना आपके लिए बहुत जरुरी है की Blog Kya Hota Hai क्युकी हो सकता आपके व्यापार, कारोबार, पढाई आदि में इसकी मदद से बहुत कम समय में आपको सफलता मिल सकती है साथ ही साथ यदि आप अपनी नौकरी से मिलने वाली पगार से खुश नही है या आप आर्थिक तंगी से जूझ रहे है तब तो ये काम आपके लिए ही है ऐसे में आपको इसे जरुर जानना और शुरू करना चाहिए क्युकी इससे आप बहुत कम काम करके अच्छा-खासा पैसे कमा सकते है |

इस लेख में आप बहुत महत्वपूर्ण विषय Blog kya Hota Hai/ Blog Kya Hai के बारे में विस्तार से जानेगे यदि आप पहली बार ब्लॉग के बारे में सुन रहे है या जान रहे है तो बिलकुल घबराए नही क्युकी इस लेख में बिलकुल शुरुआत से मै आपको बताऊगा Blog Kya Hota Hai क्यों ब्लॉग्गिंग करनी चाहिए, ब्लॉग कितने प्रकार के होते है, किसके लिए ब्लॉग्गिंग ज्यादा बेहतर है, भविष्य में ब्लॉग की मांग कितनी होने वाली है, ब्लॉग्गिंग शुरू करने का सही तरीका क्या है, आपको किस तरह की ब्लॉग्गिंग से शुरुआत करनी चाहिए|

ब्लॉग/ब्लॉग्गिंग से जुड़े जितने भी सवाल आपके मन में चल रहे है उनके सबके एक एक करके आपको विस्तार से आपको इस लेख में जवाब जानने को मिलेंगे | चलिए बिना किसी देरी के सबसे पहले जानते है Blog Kya Hota Hai

ब्लॉग क्या होता है? (Blog Kya Hota Hai?)

ब्लॉग एक तरह का आर्टिकल/लेख होता है जिसे Internet के माध्यम से लिखा जाता है इसे किसी भी भाषा में लिखा जा सकता है साथ ही साथ इसमें हम अपने जानकारी, खबर, जागरूकता, कहानी आदि को डिजिटल तरीके से लिखकर इंटरनेट के माध्यम से आम लोगो तक अपने लेख को पहुचाना ब्लॉग कहलाता है |

सरल भाषा में समझे तो जिसे आप इस समय पढ़ रहे है ये भी एक तरह का ब्लॉग है | किसी भी विषय में इन्टरनेट पे उसके बारे में लिखना ब्लॉग कहलाता है |

ब्लॉग कितने प्रकार के होते है (Types of Blog post)

मुख्य रूप से ब्लॉग दो प्रकार के होते है –

1. Personal Blogs
2. Professional Blogs

1. पर्सनल ब्लॉग क्या है? (What is Personal Blog?)

जिस ब्लॉग में आप अपना खुदका अनुभव बाटते है उसे पर्सनल ब्लॉग कहते है इस तरह के ब्लॉग अधिकांश एक से दो लोग द्वारा ही संचालित किया जाता है Personal Blog को Niche Blogs भी कहते है –

पर्सनल ब्लॉग में भी बहुत सी ऐसे ब्लॉग कैटेगरी है जिन्हें ब्लॉग्गिंग के लिए बहुत बेहतर माना जाता है जैसे –

  • Lifestyle blogs
  • Home Blogs
  • Health Blogs
  • Parenting Blogs
  • Sewing Blogs
  • Religious Blogs Etc.

Personal Blog में एक पूरा लेख अलग से मैंने आपके लिए लिखा हुआ है जिसमे पर्सनल ब्लॉग को विस्तार से बताया है आप निचे click करके उसे पढ़ सकते है

पर्सनल ब्लॉग क्या है? कितने प्रकार के होते है? कैसे पर्सनल ब्लॉग्गिंग की जाती है

2. Professional Blogs

ये वो ब्लोग्स होते है जिन्हें हम किसी दूसरे के लिए लिखते है जैसे किसी कंपनी, किसी प्रोडक्ट, मीडिया चैनेल, शोरूम, होटल, मॉल, ट्रेवल एजेंसी, किसी संस्था के लिए लिखते है |

सरल भाषा में बोले तो किसी दूसरे से पैसे लेकर उनके लिए ब्लॉग लिखना ही प्रोफेशनल ब्लॉग कहलाता है

अन्य प्रकार के ब्लॉग (Other Types of Blogs)

  1. Business Blogs
  2. Reverse Blogs
  3. Affiliate Blogs
  4. Media Blogs

हमने जाना Blog Kya Hota Hai कितने प्रकार के होते है अब जानते है ब्लॉग्गिंग क्या होती है –

ब्लॉग्गिंग क्या है? (What Is Blogging?)

जितने भी ब्लॉग में कार्य किए जाते है जैसे ब्लॉग लिखना उसमे सही जानकारी साझा करना ब्लॉग का डिजाईन, लेआउट सही करना आदि कार्यो को ब्लॉग में करना ब्लॉग्गिंग कहलाता है |
जो भी कार्य एक ब्लॉगर अपने ब्लॉग में करता है जैसे पोस्ट लिखना पब्लिश करना आदि इसे ब्लॉग्गिंग ही कहते है |

ब्लॉग्गिंग कितने प्रकार की होती है (What are the types of blogging?)

मुख्य रूप से ब्लॉग्गिंग दो प्रकार की होती है –

1. Event Blogging
2. Permanent Blogging

1. इवेंट ब्लॉग्गिंग क्या है? (What is Event Blogging?)

जो ब्लॉग्गिंग सिर्फ समय समय पे की जाए उसे इवेंट ब्लॉग्गिंग कहते है| इसे पार्ट टाइम ब्लॉग्गिंग के नाम से भी हम जानते है परमानेंट ब्लॉग्गिंग की अपेषा इवेंट ब्लॉग्गिंग करना आसान है कुछ निश्चित समय में इस तरह की ब्लॉग्गिंग की जाती है और इसमें कम समय में अच्छा खासा पैसा आता है इसमें अधिकांश शेयर करने से ही पैसे आते है |

उधाहरण से समझते है – जितने भी Best Wishes वाले ब्लोग्स होते हैं वो सब इवेंट ब्लॉग्गिंग के अंतर्गत आते है जैसे- शुभ दीपावली, होली, रक्षाबंधन आदि या फिर जो सिर्फ सीजन में ब्लॉग्गिंग होती है जैसे सादी के सीजन में उससे जुडी ब्लॉग्गिंग, किसी खास दिन के लिए ब्लॉग्गिंग (15 अगस्त, 26 जनवरी, 14 फ़रवरी आदि) भी इवेंट ब्लॉग्गिंग में आते है |

2. परमानेंट ब्लॉग्गिंग क्या है? (What is Permanent Blogging?)

जिन ब्लोग्स में निरंतर ब्लॉग्गिंग की जाती है समय समय पर नए लेख लिखे जाते है पुराने लेख को जरुरत के अनुसार अपडेट किया जाता है ऐसी ब्लॉग्गिंग को परमानेंट ब्लॉग्गिंग कहते है | ऐसी ब्लॉग्गिंग लम्बे समय के फायदे को देखकर की जाती है क्युकी शुरुआत में इसमें समय लगता है और अधिकांश नए ब्लॉगर शुरुआत में संघर्ष को देकर हताश हो जाते है और इसे छोड़ देते है |

सरल शब्दों में यदि इसे समझे तो जितने भी जानकारी देने वाले ब्लॉग है उन सभी में परमानेंट ब्लॉग्गिंग ही की जाती है और अधिक्तर ब्लॉगर परमानेंट ब्लॉग्गिंग ही करता है इसका सबसे बड़ा फायदा ये है की इसमें एक बार मेहनत करके उससे पूरी जिंदगी फायदा लिया जा सकता है |

ब्लॉगर किसे कहते है? (Who is Blogger?)

जो लोग ब्लॉग वेबसाइट बनाते है उसमे आर्टिकल लिखते है ब्लॉग्गिंग करते है उन्हें ब्लॉगर कहा जाता है यदि सरल शब्दों में समझे तो ब्लॉग वेबसाइट के मालिक को ही ब्लॉगर कहते है |

ब्लॉगर कितने प्रकार के होते है? (Types of Blogger?)

मुख्य रूप से ब्लॉगर चार प्रकार के होते है-

1. Hobby based Blogger (सौखिया ब्लॉगर)
2. Part Time Blogger (पार्ट टाइम ब्लॉगर)
3. Full Time Blogger (फुल टाइम ब्लॉगर)
4. Professional Blogger (प्रोफेशनल ब्लॉगर)

1. Hobby Based Blogger (सौखिया ब्लॉगर)

जो लोग अपने सौख से जुड़े विषय में ब्लॉग लिखते है उन्हें Hobby Blogger कहते है ऐसे ब्लॉगर सिर्फ उन्ही विषय पे ब्लॉग लिखते है जिनपे उनकी जिलचस्पी होती है अधिकांश हॉबी ब्लॉगर अपने पैशन के लिए ब्लॉग्गिंग शुरू करते है उनका मुख्य उदेश्य अपने द्वारा बेहतर से बेहतर कंटेंट लिखना और जानकारी देना होता है इन लोगो ब्लॉग्गिंग से सिर्फ पैसे कमाने में रुझान कम होता है |

उदाहरण-

  1. किसी का सौख क्रिकेट खेलना है तो वो उसपर ब्लॉग लिखना शुरू कर सकता है |
  2. किसी को खाना बनाना बहुत पसंद है वो खाना बनाने के नए नए तरीके और नुस्खे ब्लॉग के जरिए साझा कर सकता है |
  3. किसी को मूवी का बहुत सौख है तो मूवी से जुडी ब्लॉग्गिंग शुरू कर सकता है |

2. Part Time Blogger (पार्ट टाइम ब्लॉगर)

अधिकांश लोग जो इवेंट ब्लॉग्गिंग करते है वो पार्ट टाइम ब्लॉगर ही होते है या फिर जो लोग अपनी नौकरी या पढाई के साथ साथ ब्लॉग्गिंग करते है उन्हें भी पार्ट टाइम ब्लॉगर की श्रेणी में रखा जाता है |

पार्ट टाइम ब्लॉग्गिंग अधिक्तर वो लोग करते है जिन्हें कुछ एक्स्ट्रा इनकम करनी है या फिर जो जिन लोगो के पास अपने काम से अतिरिक्त समय शेष बच जाता है जिससे वो अपने अपने समय का सदउपयोग कर सके |

3. Full Time Blogger (फुल टाइम ब्लॉगर)

जो लोग ब्लॉग्गिंग से ही अपनी अधिकांस कमाई करते है और उनके आए का मुख्य स्रोत ब्लॉग्गिंग होता है ऐसे लोगो को फुल टाइम ब्लॉगर कहते है |

ऐसे लोग जो फुल टाइम ब्लॉग्गिंग करते है ये एक साथ कई सारे ब्लॉग में काम करते है और ये एक नौकरी की तरह अपने ब्लॉग को कम से कम 4-5 का समय देते है |

4. Professional Blogger (प्रोफेशनल ब्लॉगर)

ऐसे लोग जो किसी संस्था, कंपनी, कारपोरेशन आदि के लिए ब्लॉग लिखते है उन्हें प्रोफेशनल ब्लॉगर कहते है अधिकांश प्रोफेशनल ब्लॉगर पर ब्लॉग के हिसाब से पैसे लेते है

प्रोफेशनल ब्लॉगर फुल टाइम और पार्ट टाइम दोनों तरह के होते है कुछ लोग सिर्फ अन्य लोगो के लिए ब्लॉग ही लिखते है और यही उनके आए का मुख्य श्रोत होता है लेकिन कुछ लोग ब्लॉग लिखने के साथ साथ अन्य कार्य भी करते है जैसे पढाई, नौकरी, व्यापार आदि ऐसे लोग पार्ट टाइम प्रोफेशनल ब्लॉगर कहलाते है |

ब्लॉगर के मुख्य कार्य क्या-क्या है? (What are the main functions of blogger?)

किसी भी ब्लॉग को सफल या असफल बनाने में सबसे मुख्य भूमिका ब्लॉगर की ही होती है यदि ब्लॉगर अपने सभी कार्यो को सही ढंग से करता है तो ब्लॉग सफल होगा नही तो ब्लॉग असफल हो जाएगा चाहिए देखते है कौन-कौनसे कार्य है जिन्हें एक ब्लॉगर को विशेष ध्यान में रखना चाहिए –

  1. जिस भी विषय में ब्लॉगर ब्लॉग लिख रहा हो उसके बारे में अच्छी खासी जानकारी होनी चाहिए
  2. किसी भी आर्टिकल से लिखने से पहले उसे अच्छी तरह रिसर्च जरुर करे
  3. अपनी बात इस ढंग से लिखे की पढने वाले को आसानी से समझ आ जाए
  4. जरुरत के हिसाब से ब्लॉग को अच्छी तरह सजाना जिससे सामने वाले को ब्लॉग पसंद आए
  5. ब्लॉग में सटीक हैडिंग और नए-नए शब्दों का प्रयोग करे जिससे पढने वाले की दिक्चास्पी बढे
  6. ब्लॉग के लिए सोशल मीडिया पेज बनाए और उसे ब्लॉग से link करना
  7. बेहतर तरह से ब्लॉग में SEO (Search Engine Optimization) करे
  8. ब्लॉग लिखने समय On-Page SEO के सभी नियमो का पालन जरुर करे
  9. वेबसाइट में स्पीड से जुडी सभी समस्या तत्काल दूर करना जरूरी है
  10. समय-समय पर अपने पुराने ब्लॉग को अपडेट जरुर करे
  11. ब्लॉग के लिए लबे समय का प्लान बनाना व उसके अनुसार काम करना
  12. अपने ब्लॉग पे लिंकिंग करना उससे आय कैसे हो इस्पे काम करना |

ब्लॉग क्यों बनाते है? (Why make a blog?)

अपनी बात, अपने प्रोडक्ट को सर्विस को, अपनी स्किल टैलेंट को ज्यादा से ज्यादा लोगो को तक पहुचाने के लिए ब्लॉग एक सरल और बेहतर विकल्प है

इसे उदाहरण की मदद से और भी सरलता से समझते है – पहले लोग किसी भी चीज की जानकारी पाने के लिए उससे जुडी किताबे पढ़ते थे खबर जानने के लिए अखबार पढ़ते थे वही आजके समय में लोग डिजिटल यानि इन्टरनेट का प्रयोग ज्यादा करने लगे है अब अधिकांश लोग जानकारी के लिए Google में सर्च करने लगे है अखबार की जगह भी लोग इन्टरनेट मीडिया का प्रयोग ज्यादा करने लगे है|

जैसे भिन्न-भिन्न किताबो को लिखने वाले लेखक अलग अलग होते है जो अपने अपने विषय में लिखते है ठीक उसी प्रकार आजके समय में उन्ही सब पुसतो की जानकारी ब्लॉग के माध्यम से लोग पढना ज्यादा पसंद कर रहे है और इसी वजह से लोगो की सुविधा के लिए ब्लॉग लिखे जाते है |

ब्लॉग्गिंग कैसे शुरू करे (How to start blogging )

ब्लॉग्गिंग दो तरह से शुरू की जा सकती है

  1. फ्री (Free)
  2. पेड (Paid)

फ्री ब्लॉग्गिंग व पेड ब्लॉग्गिंग में अंतर? (Difference between free blogging and paid blogging?)

फ्री ब्लॉग्गिंगपेड ब्लॉग्गिंग
1. होस्टिंग फ्री मिलती है 1. होस्टिंग खरीदनी पड़ती है
2. डोमेन नाम फ्री मिलता है 2. डोमेन नाम खरीदना पड़ता है
3. पैसे कम मिलते है 3. पैसे ज्यादा मिलते है
4. साईट बहुत लम्बे समय तक सही से नही चलती 4. लम्बे समय में अच्छा रिजल्ट मिलता है
5. चीप डोमेन मिलता है 5. टॉप लेवल डोमेन मिलता है

फ्री ब्लॉग्गिंग कैसे शुरू करे? (How to start free blogging?)

Blogger, WordPress, Medium, or tumbler किसी एक में आप फ्री की होस्टिंग और डोमेन लेकर ब्लॉग्गिंग शुरू कर सकते है |

फ्री में मोबाइल से ब्लॉग्गिंग कैसे करे इसमें मैंने अलग से एक पूरा लेख लिखा हुआ है जिसपर स्टेप बी स्टेप बताया है कैसे आप फ्री में भी सिर्फ अपने मोबाइल फ़ोन से ब्लॉग्गिंग शुरू कर सकते है आप निचे क्लिक करके आसानी से उसे पढ़ सकते है |

मोबाइल से फ्री में ब्लॉग कैसे बनाए

पेड ब्लॉग्गिंग कैसे करे (How to Start Paid blogging?)

सबसे पहले आपको एक होस्टिंग और एक डोमेन लेना होगा यदि आपको होस्टिंग और डोमेन नही पता तो घबराए नही मैंने एक अलग लेख में दोनों के बारे में विस्तार से बताया है जिसे आप पढ़ कर नही अच्छे से जान सकते है समझ सकते है और फिर ब्लॉग्गिंग शुरू कर सकते है |

उसके बाद आपको ब्लॉगर या वर्डप्रेस में एक वेबसाइट बनानी है और उसपर ब्लॉग लिखना शुरू कर देना है

ब्लॉग में ट्रैफिक कैसे लाये (How to get traffic on blog site)

ब्लॉग में ट्रैफिक लाने के दो रास्ते होते है –

  1. SEO- Search Engine Optimization
  2. SEM- Search Engine Marketing

SEO पूरी तरह से फ्री है इसमें वेबसाइट के तर्फ्फिक लाने के लिए आपको किसी भी तरह का पैसे नही देना होता है लेकिन यदि आप SEM के जरिए वेबसाइट में ट्रैफिक लाते है तो आपको उस ट्रैफिक के बदले google को पैसे देने होंगे |

ब्लॉग से पैसे कैसे कमाए (How to money from blogs)

ब्लॉग में तीन तरह से पैसा कमाया जा सकता है

  1. Google  AdSence – गूगल से अपना ब्लॉग monetize करवाने के बाद गूगल आपके ब्लॉग में एड्स चलायगा और उन एड्स का आपको पैसा देगा
  2. Affiliate marketing – किसी प्रोडक्ट का एफिलिएट लिंक अपने ब्लॉग में दे जब कोई उस लिंक से खरीदेगा तब आपको कुछ कमीशन मिलेगा
  3. sponsorship – किसी प्रोडक्ट के बारे में आप अपने ब्लॉग में लिखेंगे और दूसरो को बतायगे तो उस प्रोडक्ट का मालिक आपको पैसे देग

Conclusion- Blog Kya Hota Hai

जो भी आर्टिकल इन्टरनेट पे लिहे जाते है उन्हें ब्लॉग कहते है | आजके समय में इन्टरनेट का विस्तार होने के कारण ब्लॉग्गिंग का क्रेज बढ़ता जा रहा है ब्लॉग को हम डिजिटल डायरी भी कह सकते है, आने वाले समय में ऐसा विशेषज्ञों का अनुमान है की ब्लॉग्गिंग से बहुत अच्छा फायदा लोगो को होगा और ब्लॉग की डिमांड बढेगी |

ब्लॉग लिखने के लिए कॉपी राइटिंग और कंटेंट राइटिंग का ज्ञान होना बहुत जरूरी है जिससे एक क्वालिटी कंटेंट लिखा जा सके और अपने ब्लॉग को सफल बनाया जा सके |

FAQ Related to Blog Kya Hota Hai

ब्लॉग का पूरा नाम क्या है?

Web Log

भारतीय ब्लॉग्गिंग का जनक किसे कहा जाता है?

अमित अग्रवाल

दुनिया का सबसे पहला ब्लॉग कब लिखा गया था?

1994 में जस्टिन हॉल नामक अमेरिकी छात्र द्वारा लिखा गया था |

ब्लॉग कौन लिख सकता है?

ब्लॉग कोई भी लिख सकता है चाहे वह एक छात्र हो, गृहणी हो, बेरोजगार हो, नौकरी वाला हो, या फिर अन्य कोई इंसान को कोई भी ब्लॉग लिखकर ब्लॉग्गिंग शुरू कर सकता है |

क्या ब्लॉग से पैसे कमा सकते है?

जी हां, बिलकुल कमा सकते है और ऐसे हजारो लोग है जो ब्लॉग से पैसे कमा भी रहे है |

आशा है आपको Blog Kya Hota Hai और ब्लॉग्गिंग समझ आ गयी होगी हमारा हमेशा से यही प्रयाश रहता है आपको पूरी जानकारी दी जा सकते जिससे आपको कही और जाने की जरूरत न पड़े अगर आपका कोई सवाल है या फिर कोई सुझाव हमे देना चाहते है तो आप कमेंट में बता सकते है

10 thoughts on “blog kya hota hai in hindi”

  1. Pingback: online paise kaise kamaye | Make Money Online | 2021 | In Hindi |

  2. Pingback: Free me blog kaise banaye | फ्री में ब्लॉग कैसे बनाये | 2021 | hindivindi.com

  3. Pingback: On Page SEO क्या है? कैसे करे | 2021 | In Hindi | hindivindi.com

  4. Pingback: Personal Blog kya hota hai in hindi | 2021 | Blogging hindivindi.com

  5. Pingback: Mobile Se blogging kaise kare | In Hindi | 2021 | hindivindi.com

  6. Pingback: Amazon affiliate kaise kare | Best | 2021|

  7. Pingback: Niche Kya Hai? Types Of Niches | Best Niche कैसे चुने 2021

  8. Pingback: वेबसाइट क्या होती है | 2022 | What is Website | Best Guide

  9. Pingback: Future Of Hindi Blogging In India | Amazing facts in 2022

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *