Affiliate Marketing

Affiliate Marketing kya hai? एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करे

आपने Affiliate Marketing के बारे में पहले सुना तो जरुर होगा या हो सकता है आपने किसी के एफिलिएट लिंक से कुछ खरीदा भी हो लेकिन क्या आप जानते है आजके समय से जितने भी ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीके है उनमे-से सबसे ज्यादा पैसा लोग एफिलिएट मार्केटिंग से करते है, शायद आपको मेरी बात पे विश्वास नही हो रहा होगा लेकिन यही सच है और आप इसके बारे में रिसर्च भी कर सकते है |

Contents show

आपको मैंने ये तो बता दिया ऑनलाइन इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा पैसा Affiliate Marketing से कमाया जाता है लेकिन क्या आप जानते है असल में ये क्या है, इसके फायदे नुकशान क्या-क्या है, कैसे ये काम करती है, आप किस तरह एफिलिएट मार्केटिंग कर सकते है, किन किन चीजो की आपको जरूरत पड़ेगी अगर आपको ये सभी चीजे नही पता तो आपको बिलकुल परेशान होने की जरूरत नही है क्युकी मैंने इस लेख को आपके की ऐसे लिखा है जैसे आपको एफिलिएट मार्केटिंग का कुछ भी नही पता और आप सबकुछ सीखना चाहते है |

आप इस लेख/आर्टिकल को अंत तक जरुर पढ़े जिससे आपको Affiliate Marketing से जुडी सारी चीजे पता चल सके, आप अगर अच्छे से इसे पूरा पढ़ और समझ लेते है तो इसके बाद आप Affiliate Marketing बहुत आसानी से शुरू कर सकते है और पैसे कमा सकते है |           

एफिलिएट मार्केटिंग क्या है? (What Is Affiliate Marketing?)

किसी कंपनी के प्रोडक्ट्स/सर्विसेज के बारे में लोगो को बताना व उसे बिकवाना ही Affiliate Marketing कहलाता है. सरल भाषा में समझे, Affiliate Marketing एक ऐसा काम है जिसे फुल/पार्ट टाइम किया जा सकता है इसमें किसी कंपनी के प्रोडक्ट को प्रमोट करना होता है जिसमे उस कंपनी से मिला एफिलिएट लिंक लगाना होता है और जब कोई उस लिंक से खरीदता है तो आपको कमीशन देती है |

उदाहरण से समझते है – आपने अधिक्तर YouTube विडियो देखा होगा वो कहते है डिस्क्रिप्शन में लिंक है वहा से आप जाकर ये प्रोडक्ट ले सकते है, डिस्क्रिप्शन में उनका एफिलिएट लिंक होता है जिसमे क्लिक करके कोई खरीदता है तो उस YouTuber को कंपनी कमीशन देती है | 

एफिलिएट मार्केटिंग का इतिहास (history of affiliate marketing)

Affiliate Marketing के इतिहास की अगर हम बात करे ये सदियों के चला आ रहा बिज़नस है इसे पुराने समय में भी लोग करते थे लेकिन तब इसको करने के तरीके दूसरे थे और आज तरीके दूसरे है, उस समय इस काम को करने वाले को बहुत अच्छा नही मानते थे क्युकी इसे पुराने समय में लोग दलाली नाम से संबोधित करते थे धीरे-धीरे समय का परिवर्तन होता गया बदलाव आते गए फिर इस काम का अलग-अलग छेत्र में विभाजन हो गया |

पहले के समय में इसे ऑफलाइन किया जाता था आज भी ऑफलाइन होता है लेकिन उसे ब्रोकरिंग(दलाली) करते है. डिजिटल मार्केटिंग के आने से इस ब्रोकरिंग को नए मार्केटिंग फार्मेट में बनाया गया जिसे आज हम Affiliate Marketing कहते है |  

जितने भी कमीशन वाले काम है जिसमे किसी दूसरे के प्रोडक्ट को हम प्रमोट करते है और किसी के खरीदने पे हमे कमीशन आता है वो सब एक तरह की एफिलिएट मार्केटिंग ही है लेकिन उन्हें Affiliate Marketing नही कहते है क्युकी- Affiliate Marketing में एफिलिएट लिंक के माध्यम से ही प्रोडक्ट बिकने पे पैसा आता है, और बाकी सभी में लिंक होना जरूरी नही है|

एफिलिएट मार्केटिंग कितने प्रकार की होता है (Affiliate Marketing Types)

मुख्य रूप से Affiliate Marketing 6 प्रकार की होती है –

1. PPC (Pay Per Click)
2. PPL (Pay Per Lead)
3. PPS (Pay Per Sale)
4. One Time Commission
5. Side Wide Commission
6. Recurring Commission

1. PPC (Pay Per Click)

इसे अगर बहुत कम शब्दों और बहुत आसान भाषा में समझे तो ये प्रोग्राम सिर्फ उनके लिए होता है जिनकी ब्लॉग/वेबसाइट/ऐप/YouTube चैंनल है जिसमे आपको अपने इन प्लेटफॉर्म्स पे किसी भी PPC ऐड से ऐड चलवाने होते है और जब कोई उन एड्स पे क्लिक करता है तो आपको ऐड नेटवर्क कमीशन देता है | इसे मुख्य एफिलिएट मार्केटिंग का प्रकार नही माना जाता लेकिन अधिक्तर ब्लॉगर इसका लाभ लेते है |

2. PPL (Pay Per Lead)

इसमें लीड दिलाने का आपको पैसा मिलता है इसे रेफ़रल मार्केटिंग के नाम से भी जानते है. survey, Sign Up, Form Fill Up, Download करवाने का पैसा मिलता है बहुत से ऐप्स को आपने देखा होगा जो एफिलिएट लिनक्स डाउनलोड करवाने का पैसा देते है वो सब इसी तरीके पे काम काम करते है | बहुत से online courses भी इसी मॉडल पे काम करते है|

3. PPS (Pay Per Sale)

ऊपर दोनों मॉडल सिर्फ एफिलिएट मार्केटिंग के मॉडल्स में शामिल है लेकिन यह मॉडल एफिलिएट मार्केटिंग के मुख्य मॉडल्स में से एक है. आपके एफिलिएट लिंक के जरिए जितनी बार कोई प्रोडक्ट खरीदा जाएगा आपको उसका फिक्स कमीशन आएगा इसमें बहुत सी बड़ी कंपनी जैसे – अमेज़न, फ्लिप्कार्ट भी काम करती है |

4. One Time Commission

बिलकुल PPS (Pay Per Sale) की तरह ये भी है बस इसमें कमीशन % में मिलता है और अधिक्त कंपनी फालो करती है इसमें आपको आपके एफिलिएट लिंक से की कई सेल का ही कमीशन मिलता है ये कंपनी पे निर्भर करता है वो किस तरह का एफिलिएट प्रोग्राम चला रही है और किस प्रकार का लिंक आपको देती है |

5. Side Wide Commission

ये भी Affiliate Marketing के मुख्य प्रकारों में से एक है लेकिन इसमें कंपनी कमीशन के रूप में कुछ रिवॉर्ड देती है जैसे किसी फ्लाइट की कुछ टिकेट बिकवाने पे आपको एक टिकेट फ्री मिलती है या फिर किसी टूर ट्रेवेल्स कंपनी का पैकेग बिकवाने पे आपको फ्री ट्रिप मिलती है या एक तये अंक से ज्यादा अगर आपके लिंक से सामान बिलकता है तो आपको बोनस में कुछ मिलेगा |

6. Recurring Commission

ये बेहतर और सबसे फायदेमंद तरीका माना जाता है इसमें वो प्रोडक्ट्स/सर्विसेज होती है जिनको महीने में या साल में फिरसे खरीदना पड़ता है जैसे ऑनलाइन कोर्स, सॉफ्टवेयर. इसमें अगर एक बार आपके एफिलिएट लिंक से कोई खरीद लेता है तो जब भी उसे वो दुबारा लेगा तो आपको कमीशन मिलेगा इसमें एक फायदा और भी मिलता है किसी कंपनी के कुछ सस्ते प्रोडक्ट है और कुछ महगे अगर किसीने आपके लिंक से सस्ता प्रोडक्ट खरीदा और बाद में वो महगा प्रोडक्ट ले लेता है तब भी आपको कमीशन आएगा |

सरल भाषा में इसे समझे तो जब कोई हमारे लिंक से प्रोडक्ट/सर्विस लेता है तो हमे कमीशन मिलता है और अगर वो बादमें उसे अपडेट करता है तबभी कंपनी हमे कमीशन देती है |

एफिलिएट मार्केटिंग के फायदे (Advantages of Affiliate Marketing)

Affiliate Marketing से हमे बहुत से फायदे है एक-एक करके देखते है

  • कही से भी इसके किया जाता है
  • आप अपने मर्जी के मालिक होते है, किसी का दबाव आपके ऊपर नही होता
  • पार्ट टाइम फुल टाइम कैसे भी इसे आप कर सकते है
  • इसमें सरकार के नियम-कानून का भी जोर नही रहता
  • इससे कमाया हुआ एक-एक पैसा लीगल होता है

एफिलिएट मार्केटिंग के नुकशान (Disadvantages of Affiliate Marketing)

Affiliate Marketing से यदि आपको कुछ फायदे होते है तो नुकशान भी होते है उसने भी हम एक एक करके जान लेते है

  • पेड एड्स में आप पैसे गवा सकते है यदि आपको चीजो की सही जानकारी नही है
  • नियमो का उल्लंघन करने पे आपका अकाउंट बैन किया जा सकता है
  • मूल्य और कमीशन में आपका कोई नियंत्रण नही होता
  • कम्पटीशन बहुत ज्यादा रहता है

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे काम करती है (How does affiliate marketing work)

इसमें मुख्य रूप से 4 चीजे जरूरी होती है जिनसे मिलकर Affiliate Marketing काम करती है

  1. Company – इसमें सबसे अहम् किरदार कंपनी का होता है जिसका प्रोडक्ट होता है
  2. Affiliate Platform – ये वो जगह होती है जहा कंपनी अपने प्रोडक्ट को एफिलिएट कराने के लिए लिस्ट करवाती है
  3. Affiliates – ये वो लोग होते है जो एफिलिएट प्लेटफॉर्म से प्रोडक्ट का एफिलिएट लिंक लेके उसे प्रमोट करते है
  4. Customer – वो एफिलिएट लिंक से प्रोडक्ट खरीदता है वो कस्टमर होता है

किसी कंपनी ने प्रोडक्ट बनाया उसे एफिलिएट करने के लिए एफिलिएट प्लेटफॉर्म पे रजिस्टर्ड किया, वहा से एफिलिएट मार्केटर ने अपना एफिलिएट लिंक लिया और अलग-अलग जगह उसे प्रमोट किया और उस लिंक से कोई खरीदेगा तो पैसा कंपनी के कंपनी के पास पैसा जायगा वो कंपनी कस्टमर को प्रोडक्ट की डिलेवरी करवा देगी वो कंपनी कमीशन आपके अकाउंट पे भेज देगी |

एफिलिएट मार्केटिंग करना क्यों जरूरी है (Why it is important to do affiliate marketing)

हमे Affiliate Marketing क्यों करनी चाहिए इसके बारे में कुछ पॉइंट्स मै आपको बताउगा जिससे आपको क्लियर हो जाएगा की एफिलिएट मार्केटिंग आपको क्यों करनी चाहिए

  • इसे बिना लागत लगाए भी किया जा सकता है
  • घर से ही इसे ऑनलाइन कर सकते है
  • पार्टटाइम/ फुलटाइम आप अपने हिसाब से इसे कर सकते है
  • कम काम करके बहुत अधिक पैसे कमा सकते है
  • इसे कोई भी कर सकता है इसमें किसी खास पढाई की जरूरत नही है
  • फ़ोन या लैपटॉप किसी से भी आप इसे कर सकते है
  • भविष्य में इसकी मांग बढ़ने वाली है
  • Second Income Source के लिए सबसे बेहतर है
  • पैसा सीधे आपके अकाउंट में आता है

1. Affiliates
2. Affiliate Marketplace
3. Affiliate Program
4.Affiliate Dashboard
5. Affiliate ID
6. Affiliate Link
7. Commission
8. Link Clocking
9. Payment Mode
10. Affiliate Manager

1. Affiliates

जो लोग Affiliate Marketing करते है या ये कहे एफिलिएट मार्केटर होते है उसने मार्केटिंग की भाषा में Affiliates कहते है |

2. Affiliate Marketplace

जिस जगह एफिलिएट मार्केटिंग के लिए सभी प्रोडक्ट्स को रखा जाता है उसे Affiliate Marketplace कहते है |

3. Affiliate Program

जिस प्रोडक्ट्स पे Affiliate Marketing होती है उनका एक अलग से पूरा पेज कंपनी बनाती है जिसमे एफिलिएट मार्केटिंग के लिए सभी तरह की जानकारी, नियम, ऑफर्स होते है और उसे एफिलिएट प्रोग्राम कहते है |

4. Affiliate Dashboard

ये एक तरह का डिजिटल पेज होता है जो हमे एफिलिएट प्लेटफॉर्म पे लॉग इन करने के बाद दिखता है इसमें अलग-अलग के बहुत से पेज होते है जिसमे अकाउंट, सेटिंग, पेमेंट, मार्केटप्लेस जैसे पेज सामिल है

5. Affiliate ID

ये यूनिक आई.डी होती है जो सबकी अलग होती है इसीसे आपके अकाउंट को रजिस्टर्ड किया जाता है. सरल भाषा में समझे तो ये नंबर होता है जो हमे एफिलिएट प्लेटफॉर्म रजिस्टर्ड होने के बाद मिलती है |

ये एक लिंक होता है जो आप Affiliate Marketplace से लेते है. ये आपका पर्सनल लिंक होता है जिसके जरिए अगर कोई भी प्रोडक्ट खरीदता है तो कंपनी आपको कमीशन देती है |

7. Commission

इस शब्द को आप और हम बहुत अच्छे से जानते है फिर भी मै बता दू ये एक तरह की फीस ही होती है जो दो किसी काम को करवाने के बदले में मिलती है ये अधिक्तर लोग % में देते है |

जादातर एफिलिएट लिंक बहुत लम्बे और दिखने में अजीब होते है उन्हें छोटा करने के लिए Link Clocking का प्रयोग किया जाता है |

9. Payment Mode

इसमें हमे एफिलिएट से हुई सभी कमाई और उसे कैसे अपने तक लेकर आना है उसकी जानकारी और सेटिंग होती है |

10. Affiliate Manager

ये सभी एफिलिएट मार्केटर को नही मिलते पर कुछ बड़े Affiliates इन्हें हायर करते है जो एक एक्सपर्ट होता है वो उन्हें हर चीज के बारे में जानकारी देता है और मार्गदर्शन करता है |

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करे (how to do affiliate marketing)

Affiliate Marketing के लिए आपको कुछ चीजे है जो Step-By-Step सीखनी और करनी पड़ेगी | तो चाहिए उने एक-एक करके समझते है –

1. Mindset
2. Niche
3. Product Research
A. Digital Product
B. Physical Product
4. Affiliate Platform
5. Affiliate Link Promotion Method

1. Mindset

यदि आप एफिलिएट मार्केटिंग करना चाहते है तो सबसे पहले आपको अपना माइंडसेट भी वैसा ही बनाना पड़ेगा जैसे-

  • सकारात्मक सोच होनी चाहिए
  • चीजो को सीखने और जानने की जिज्ञासा होनी बहुत जरूरी है
  • किसी को बेचने या चिपकाने की जगह उसकी मदद करने की सोचे
  • जिनसे आपको लाभ हो या जो चीज आपको पसंद आए उन्ही को प्रमोट करे पैसे के लिए ख़राब प्रोडक्ट न चुने

2. Niche

आपने अपना माइंडसेट बना लिया अब आपको Niche चुननी है अगर आप नीच जानते की निस क्या होती है तो आपको मै बता दू कोई भी टॉपिक जो आपको पसंद है या उसके बारे में आप अच्छी खासी जानकारी रखते है उसे निस कहते है | निस पे एक पूरा अलग से लेख पहले से लिखा हुआ है जिसे आप पढ़कर आसानी से एक बेहतर नीच का चयन अपने लिए कर सकते है |

3. Product Research

आपने माइंडसेट बना लिया अपनी निस चुनली अब आपको प्रोडक्ट की रिसर्च करनी है लेकिन उससे पहले आपको ये जानता जरूरी है कितने तरह के प्रोडक्ट होते है और कहा पर आपको वो मिलेंगे तभी आ अच्छे से उनकी रिसर्च कर पाएगे. चलिए फटा-फट जानते है प्रोडक्ट कितने प्रकार के होते है|

दो तरह के प्रोडक्ट होते है –

  • Digital Products
  • Physical Products

Digital Products-

जिन प्रोडक्ट्स को आप सिर्फ अपने डिवाइस से इनस्टॉल व एक्सेस कर सकते है उन्हें डिजिटल प्रोडक्ट्स कहते है

जैसे- ऑनलाइन कोर्स , ईबुक, सॉफ्टवेयर, प्रीमियम एप्लीकेशन, आदि

Physical Products-

जो हार्डवेयर प्रोडक्ट्स होते है जिन्हें हम छू सकते है पकड़ सकते है उनको फिजिकल प्रोडक्ट्स कहते है

जैसे- फ़ोन, लैपटॉप, दवाईया, किताबे, फ़र्निचर आदि

हमने प्रोडक्ट्स के बारे में जान लिया लेकिन ये प्रोडक्ट्स मिलेंगे कहा और कैसे हमने पता चलेगा की प्रोडक्ट प्रमोट करने लायक है या नही अब इन चीजो को भी अच्छे से जान लेते है

बेस्ट एफिलिएट प्लेटफॉर्म्स कौन-कौनसे है (What are the best affiliate platforms)

अदि भारत में आप Affiliate Marketing करना चाहते है तो आपके लिए दो प्लेटफॉर्म बेस्ट रहेंगे

1- Amazon

2- Flipkart

यदि आप पूरे विश्व में Affiliate Marketing करना चाहते है तो आप इन प्लेटफॉर्म को चुन सकते है

1- Click Bank – ये बहुत पुराना और भरोसेमंद प्लेटफॉर्म है जिसमे हर प्रकार के प्रोडक्ट है डिजिटल भी और फिजिकल भी अगर आप इस प्लेटफॉर्म से एफिलिएट मार्केटिंग करना कहते है तो आसानी से कर सकते है बस आपको गूगल में Click Bank सर्च करना है या आप नीचे दिए लिंक पे क्लिक करके भी सीधे Click Bank खोल सकते है |

2- JVZOO – यह डिजिटल प्रोडक्ट्स का सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म है जिसमे आपको हर तरह के डिजिटल प्रोडक्ट्स मिलेंगे. आप गूगल में सिर्फ JVZOO डालकर सर्च करके आसानी से Sign-Up फॉर्म को भरके आप एफिलिएट मार्केटिंग की शुरुआत कर सकते है |

3- Warrior Plus – डिजिटल और फिजिकल दोनों तरह के प्रोडक्ट्स यहा मिल जाएगे. इसे चलाना भी बहुत ही आसान है गूगल पे सर्च करके आसानी से इसमें भी Sign Up कर सकते है

Affiliate Marketing Platforms
Affiliate Marketing Platforms

अन्य प्लेटफॉर्म्स

  1. CJ Affiliate
  2. Shopify
  3. ebay

एफिलिएट मार्सकेटिंग के लिए सही प्रोडक्ट का चयन कैसे करे (How to choose the right product for affiliate marketing)

सही प्रोडक्ट के चयन के लिए कुछ बातो का विशेष ध्यान रखे –

  1. प्रोडक्ट की डिमांड कितनी है
  2. प्रोडक्ट का मूल्य का है और कितना कमीशन है
  3. प्रोडक्ट की Gravity कितनी है (Choose High Gravity Product)
  4. प्रोडक्ट के रिव्यु कैसे है रेटिंग क्या है
  5. दूसरी कंपनी के प्रोडक्ट और आपके चुने हुए प्रोडक्ट में क्या अंतर है

आपने माइंडसेट बना लिया, सही निस चुनली, एफिलिएट प्लेटफॉर्म चुना, प्रोडक्ट चुन लिया, अच्छे से रिसर्च करके एफिलिएट लिंक ले लिए. अब आगे जानते है उसके बाद उस लिंक को प्रमोट कहा करना है –

हम ये जाने की एफिलिएट लिंक को प्रमोटे कहा करे इससे पहले हमे ये जानना जरूरी है की कितने तरह से लिंक प्रमोट किया जाता है तो चाहिए जान लेते है कितने तरह से एफिलिएट लिंक को प्रमोट कर सकते है-

दो तरह से हम एफिलिएट लिंक प्रमोट कर सकते है

  1. Free Method
  2. Paid Method

1. Free Method

इसमें हमे लिंक को प्रमोट करवाने का कोई भी पैसा नही देना पड़ता कुछ प्लेटफॉर्म जहा हम फ्री में अपने लिंक को प्रमोट कर सकते है –

  1. YouTube- यदि आपका कोई यूटूब चैनल है तो आप आसानी से अपना लिंक विडियो की डिस्क्रिप्शन में दाल सकते है |
    1. YouTube क्या है? इससे पैसे कैसे कमाए
  2. Blog- यदि आपका कोई ब्लॉग है तो आप आसानी से ब्लॉग में एफिलिएट लिंक डाल सकते है |
    1. Blog क्या है? कैसे बनाते है इससे पैसे कैसे कमाए
  3. Telegram- आप टेलीग्राम में चैनल बनाकर आसानी से वहा पर फ्री में एफिलिएट लिंक प्रमोट कर सकते है
    1. Telegram क्या है? चैनल बनाकर पैसे कैसे कमाए
  4. Facebook- फेसबुक पेज व ग्रुप बनाकर आसानी से आप उसमे भी लिंक प्रमोट कर सकते है
    1. Facebook क्या है? फेसबुक से पैसे कैसे कमाए
  5. Instagram- अगर आपके 10000 फालोवेर है तो आप Instagram के स्टोरी पे Swip Up के आप्शन में एफिलिएट लिंक दे सकते है वरना अपनी बायो पे लिंक सकते है
    1. Instagram क्या है? पैसे कैसे कमाए
  6. Quora- ये बहुत बेहतर जगह है यहाँ से भी आप आसानी से अपना एफिलिएट लिंक प्रमोट करके अच्छा खासा पैसा कमा सकते है
    1. Quora क्या है? पैसे कैसे कमाए

2. Paid Method

इसमें आपको अपने एफिलिएट लिंक को प्रमोट करने के लिए पैसा देना पड़ता है साथ ही साथ एक लैंडिंग पेज बनाना पड़ता है चाहिए इसे विस्तार से समझते है |

सबसे पहले आपको एक लैंडिंग पेज बनाना होगा अगर आपको लैंडिंग पेज के बारे में नही पता तो हमने इसपे बहुत विस्तार अपने लेख पे बताया है जिसे आप नीचे क्लिक करके आसानी से पढ़ सकते है –

आप पहले लैंडिंग पेज बनाएगे और उसके बाद ऐड नेटवर्क पे ऐड चलाएगे कुछ ऐड नेटवर्क को देख लेते है जिसपर आप ऐड चलाएगे-

  1. Google Ads
    1. Google Ads क्या है? कैसे काम करता है
  2. Facebook Ads
  3. Bing Ads

क्या एफिलिएट मार्केटिंग करना लीगल है?

हां, बिलकुल लीगल है क्युकी ये भी एक तरह का बिज़नस ही है जिसमे आप प्रोडक्ट्स को प्रमोट करते है उसमे अपना एफिलिएट लिंक देते है लिंक से खरीदने पर आपको कमीशन मिलता है | हर व्यापार आजके समय में डिजिटल हो रहा है अब उस व्यापर को करने के तरीके भी डिजिटल हो रहे है और उन्ही तरीको में से एक तरीका एफिलिएट मार्केटिंग भी है |

एफिलिएट मार्केटिंग का भविष्य क्या है?

किसी के भविष्य के बारे में 100% गारेंटी से कह पाना असंभव सा है लेकिन उसकी डिमांड और भविष्य में होने वाले बदलाव को देखते हुए काफी हद तक अनुमान लगाया जा सकता है. बिज़नस विशेषज्ञों के अनुसार पूरी तरह से सभी बिज़नस डिजिटल की तरफ शिफ्ट हो जाएगे और इसी के साथ एफिलिएट मार्केटिंग बिज़नस भी कई गुना ग्रो करेगा |

Conclusion of Affiliate Marketing in Hindi

आज आपने जाना की एफिलिएट मार्केटिंग क्या है? और कैसे आप एफिलिएट मार्केटिंग की मदद से महीने में लाखो रूपए कमा सकते है साथ ही साथ आपने ये भी जाना की Affiliate Marketing के फायदे और नुक्सान क्या है किन किन तरीको से आप इसे कर सकते है और पैसे कमा सकते है इसी आर्टिकल में हमने आपको Step-By-Step बताया है की कैसे आप जीरो से एक एडवांस लेवल के एफिलिएट मार्केटर बन सकते है, यदि आप अपना करियर एफिलिएट मार्केटिंग में बनाना चाहते है तो आप सिर्फ इसी आर्टिकल की मदद से सीखकर शुरू कर सकते है |

यदि आपका कोई सवाल है या फिर आप हमे कोई सुझाव देना चाहते है तो कमेंट के जरिए हमे दे सकते है | अपना बहुमूल्य समय देने के लिए दिल से धन्यवाद |

5 thoughts on “Affiliate Marketing kya hai? एफिलिएट मार्केटिंग कैसे करे”

  1. Pingback: online paise kaise kamaye | Make Money Online | 2021 | In Hindi |

  2. Pingback: Amazon affiliate kaise kare | Best Tricks and Tips | 2021|

  3. Pingback: Landing Page kya hai| Best 13 Types Landing Pages Full Guide

  4. Pingback: फेसबुक से पैसे कमाने के 7 best तरीके facebook क्या है hindivindi.com

  5. Pingback: Future Of Hindi Blogging In India | Amazing facts in 2022

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *